रंग meaning in hindi

[सं० पुं० सं० ] राँगा नामक धातु नृत्य गीत आदि नाचना गाना किसी दृश्य पदार्थ का वह गुण जो उसके आकार या रूप से भिन्न होता है और जिसका अनुभव केवल आँखों से होता है जैसे—नीला, पीला, लाल, सफेद या हरा रंग विशेष—वैज्ञानिक दृष्टि से प्रकाश की भिन्न-भिन्न प्रकार की और अलग अलग लंबाइयों वाली किरणों के कारण हमें रंग की अनुभूति या ज्ञान होता है जिन पदार्थों पर ऐसी किरणें पड़ती हैं, उनके रासायनिक गुण या तत्त्व भी हमें रंगों का बोध कराने में सहायक होते हैं जब किसी वस्तु पर प्रकाश की किरणें पडती है, तब तीन प्रकार की क्रियाएँ होती हैं एक तो उनका परावर्तन या पीछे की ओर लौटना, दूसरे उनका वर्तन या किसी ओर मुड़ना और तीसरे उस पदार्थ के द्वारा होनेवाला शोषण जिस पर प्रकाश की किरणें पड़ती हैं जिन पदार्थों पर से प्रकाश किरणों का पूरा परावर्तन होता है, वे सफेद दिखाई देती हैं जिन पदार्थों पर से प्रकाश परावर्तित नहीं होता, केवल वर्तित तथा शोषित होता है, वे बिना रंग के दिखाई देते हैं जैसे—शुद्ध जल और जो पदार्थ सारा प्रकाश सोख लेते हैं, वे काले दिखाई देते हैं, प्रकाश की किरणें मुख्यतः सात रंगों की होती है यथा—बैंगनी, नीली, काली या आसमानी, हरी, पीली, नारंगी के रंग की और लाल इन सातों रंगों का मिश्रित रूप सफेद होता है, और रंग मात्र का अभाव काला दिखाई देता है अलग-अलग प्रकार के पदार्थ अलग-अलग प्रकार के रंग सोखते और इसलिए अलग-अलग रंगों के दिखाई देते हैं कुछ विशिष्ट रासायनिक क्रियाओं से बनाया हुआ वह पदार्थ जिसका व्यवहार किसी चीज को रँगने या रंगीन बनाने के लिए होता है जैसे—जल-रंग, तैल-रंग क्रि० प्र०—आना —उड़ना —उतरना —करना —चढ़ाना —पोतना —लगाना पद—रंग-बिरंग मुहावरा—रंग खेलना=होली के दिन में पानी में रंग घोलकर एक-दूसरे पर डालना (किसी पर) रंग डालना= (होली में) पानी में रंग घोलकर किसी पर डालना रंग निखरना=रंग का चमकीला या तेज होना और फलतः सुंदर जान पड़ना किसी पदार्थ के ऊपरी तल या शरीर का ऊपरी वर्ण वक्ष और चेहरे की रंगत क्रि० प्र०—उड़ना मुहावरा—रंग निकलना या निखरना=चेहरे के रंग का साफ होना चेहरे पर रौनक आना चौपट की गोटियों के खेल के काम के लिए किये हुए दो काल्पनिक विभागों में से हर एक मुहावरा—रंग जमना=चौपड़ में रंग की गोटी का किसी अच्छे और उपयुक्त घर में जा बैठना, जिसके कारण खेलाड़ी की जीत अधिक निश्चित होती है रंग मारना= (क) चौपड़ के खेल में किसी रंग की गोटी मारना (ख) लाक्षणिक रूप में बाजी जीतना प्रतियोगिता आदि में विजय प्राप्त करना रूप, रंग आदि की सुंदरता के कारण दिखाई देनेवाली शोभा जैसे—आज तो इस पर रंग है —चढ़ना —पकड़ना —होना पद—रंग है=वाह क्या बात है बहुत अच्छे मुहावरा—रंग पर आना=ऐसी स्थिति में आना कि यथेष्ट शोभा या सौदर्य दिखाई पड़े रंग बरसना=शोभा या सौन्दर्य का इतना आधिक्य होना कि चारों ओर यथेष्ट प्रभाव पड़ रहा हो श्रृंगारिक क्षेत्र में होनेवाला अनुराग या प्रेम मुहब्बत मुहावरा—(किसी पर) रंग देना=किसी को अपने प्रेम पाश में फँसाने के उद्देश्य से उसके प्रति उत्कट प्रेम प्रकट करना (बाजारू) (किसी पर) रंग डालना=अपनी ओर अनुरक्त करना उदाहरण—सतगुरु हो महाराज मोपै साई रंग डारा० —कबीर (किसी के) रंग में बींधना=किसी पर पूर्णरूपेण अनुरक्त होना किसी पर अनुरक्त होने के कारण उसके प्रति की जानेवाली कृपा या प्रकट की जानेवाली प्रसन्नता मनोविनोद के लिए की जानेवाली कीड़ा, और उससे प्राप्त होनेवाला आनंद या मजा उदाहरण—मोकों व्याकुल छाँड़ि कै आपुन करै जु रंग —उख़ड़ना —जमना —मचाना —रचाना पद—रंगरली या रंगरलियाँ मुहावरा—रंग में भंग करना=आनंद में बाधा डालना होते हुए आमोद-प्रमोद को ठप करना रंग में होना=मन की यथेष्ट उमंग या प्रसन्नता की दशा में होना जैसे—आज तो यह रंग में है रंग में भंग पड़ना या होना=आनंद और हर्ष के समय कोई दुःखद घटना घटित होना या कोई बाधक बात होना रंग रलना=आमोद-प्रमोद करना क्रीड़ा या भोग-विलास करना जवानी युवावस्था मुहावरा—रंग चूना या टपकना=पूर्ण यौवन की अवस्था में रूप या सौदर्य का इतना आधिक्य होना कि औरों पर उसका पूरा-पूरा प्रभाव पड़ता हो १॰. गुण, महत्त्व, योग्यता, शक्ति आदि का दूसरों के हृदय पर पडनेवाला आतंक या प्रभाव क्रि० प्र०—उखड़ना मुहावरा—रंग बाँधना= (क) धाक या रोब जमाने के उद्देश्य से लंबी-चौड़ी हाँकना (ख) प्रभावित करने के लिए व्यर्थ का आडम्बर खड़ा करना या ढोंग रचना (किसी का) रंग बिगाड़ना= (क) प्रभाव या महत्व कम होना या न रह जाना (ख) अभिमान चूर्ण करना शेखी किरकिरी करना रंग लाना=अपना गुण या प्रभाव दिखाना उदाहरण—रंग लाएगी हमारी फाका मस्ती एक दिन —गालिब किसी प्रकार का अद्भुत दृश्य विलक्षण कार्य या व्यापार जैसे—आज तो तुमने वहाँ एक रंग खड़ा कर दिया नृत्य, गीत आदि का उत्सव पद—नाच-रंग वह स्थान जहाँ नृत्य या अभिनय होता हो नाचने, गाने आदि के लिए बना हुआ स्थान पद—रंग-देवता, रंगभूमि, रंगमंच, रंगशाला अवस्था जैसे—कहो आज-कल उनका क्या रंग है१५. ढंग पद—रंग-ढंग मुहावरा—रंग काछना=कोई नई चाल या नया ढंग अख्तियार करना (किसी को अपने) रंग में ढालना या रंगना=किसी को अपने ही विचारों का अनुयायी बना लेना प्रभाव डालकर अपना सा कर लेना भाँति प्रकार युद्ध लड़ाई क्रि० प्र०—ठानना लड़ाई का मैदान युद्ध क्षेत्र रणभूमि [सं०+अच्]१. राँगा नामक धातु खदिर सार
loading...
What is the meaning of रंग in hindi? Definiton of रंग? रंग ka matlab kya hota hai? Janiye rang ka arth
loading...